स्वामी विवेकानंद जयंती पर ,मंगलम ने किया 100 से अधिक रक्तदाताओ को सम्मानित

मंगलम की संख्याबल भले ही कम है, लेकिन गुणात्मक योग्यता अमूल्य: एसपी पाण्डे
स्वामी विवेकानंद जयंती पर हुआ एक सैकड़ा से अधिक रक्तदाताओ का सम्मान
कुक्कु भाई का हुआ विशेष सम्मान

शिवपुरी। समाजसेवी संस्था मंगलम के बारे में जितना मैंने सुना और जाना है उस आधार पर मैं पूर्ण विश्वास के साथ कह सकता हूं कि यह संस्था संख्याबल की दृष्टि से अन्य संस्थाओं की तुलना में भले ही कम हो, लेकिन इसकी गुणात्मक योग्यता का कोई मुकाबला नहीं है। शिवपुरी शहर के अच्छे प्रतिष्ठित और समाजसेवी लोग इस संस्था से जुड़कर इसे ऊंचाईयों पर ले जा रहे हैं तथा स्वामी विवेकानंद की जयंती पर मंगलम संस्था द्वारा रक्तदाताओं का सम्मान करना एक अनुकरणीय पहल है। उक्त उद्गार मंगलम संस्था द्वारा अपने वाट्सएप प्रकल्प की पहल पर स्वेच्छा से एक सैकड़ा से अधिक रक्तदाताओं के सम्मान समारोह में मुख्य अतिथि की हैसियत से व्यक्त किए। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए पोहरी विधायक प्रहलाद भारती ने यह कहने में संकोच नहीं किया कि शिवपुरी की सर्वश्रेष्ठ सामाजिक संस्था मंगलम है। विशिष्ट अतिथि की भूमिका का निर्वहन नपाध्यक्ष मुन्नालाल कुशवाह ने किया। मंचासीन अतिथियों में मंगलम के उपाध्यक्ष अशोक कोचेटा, कोषाध्यक्ष दीपक गोयल, मंगलम ब्लड ग्रुप के एडमिन संस्था के संचालक अमित खण्डेलवाल और अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कमल मौर्य भी शामिल थे। 
कार्यक्रम के प्रारंभ में कोषाध्यक्ष दीपक गोयल ने बताया कि मंगलम की नई कार्यकारिणी ने अस्तित्व में आने के बाद समाजसेवा के अन्य प्रकल्पों पर जब विचार किया तो यह तय किया गया कि संस्था रक्तदान को प्रोत्साहित करने की पहल करेगी और इस दृष्टि से मंगलम ब्लड नामक वाट्सएप ग्रुप बनाया गया। पिछले छह माह में इस ग्रुप की मदद से एक सैकड़ा से अधिक लोगों ने रक्तदान कर पीडि़त मानवता की सेवा की है। मंगलम के संचालक अजय खेमरिया ने अपने उद्बोधन में बताया कि संस्था ने सोशल मीडिया का सकारात्मक उपयोग कर इससे मानवता की सेवा करने वाले जन-जन को जोड़ा है जिसके परिणामस्वरूप यदि किसी पीडि़त को ग्वालियर में भी रक्त की आवश्यकता हुई है और वाट्सएप ग्रुप से जुड़ा डोनर यदि ग्वालियर में है तो उसने अस्पताल पहुंचकर रक्तदान किया है। श्री खेमरिया ने अपने उद्बोधन में मंगलम संस्था की विकास गाथा को रेखांकित किया वहीं रक्तदान करने वाले पत्रकार अशोक अग्रवाल ने मंगलम ब्लड ग्रुप की प्रासांगिकता स्पष्ट करते हुए कहा कि जब ग्रुप पर बी पॉजीटिव की आवश्यकता का मैसेज आया और उस मैसेज को पढ़कर जब वह रक्तदान करने अस्पताल पहुंचे और रक्तदान के बाद उन्होंने उस वृद्ध मां के दर्शन किए जिन्हें उन्होंने रक्त दिया था तो वह यह देखकर आश्चर्यचकित हो उठे कि बुढ़ापे में तीन-तीन बेटे होने के बाद भी पति-पत्नी अकेले हैं और उन्हें उस वृद्ध मां को रक्तदान देकर इतनी खुशी हुई जिसका वर्णन वह शब्दों में नहीं कर सकते। समारोह में मुख्य अतिथि पुलिस अधीक्षक पाण्डे ने रक्तदान को सबसे बड़ा दान बताया और कहा कि दो दिन बाद दान की महत्ता बताने वाला त्यौहार मकर संक्रान्ति आ रहा है और दान के महत्व को प्रतिपादित कर संस्था ने आज से ही मकर संक्रान्ति की शुरूआत कर दी है और यह भी खुशी की बात है कि आज ही स्वामी विवेकानंद का जन्मदिवस है जिन्होंने पीडि़त मानवता की सेवा में अपने जीवन को समर्पित किया। विधायक प्रहलाद भारती ने कहा कि इस संस्था में अब कुछ अच्छे लोगों के आने से एक नई ऊर्जा का संचार हुआ है और आज यह संस्था शहर और प्रदेश में ही नहीं, बल्कि देश में समाजसेवा के कारण अपनी एक अनूठी पहचान रखती है। विशिष्ट अतिथि नपाध्यक्ष मुन्नालाल कुशवाह ने मंगलम संस्था को अपनी शुभकामनाएं दीं और कहा कि दानदाताओं के सम्मान से अन्य लोगों को भी अच्छा कार्य करने की प्रेरणा मिलती है। कार्यक्रम में जहां रक्तदाताओं का सम्मान हुआ वहीं अतिथियों को स्मृति चिन्ह भी भेंट किए गए। इस अवसर पर मंगलम के संचालक डॉ. शैलेन्द्र गुप्ता, हरिओम अग्रवाल, जिनेश जैन, प्रमोद भार्गव, रामकुमार यादव, बृजेश तोमर, सुश्री पूनम पुरोहित, प्रमोद गर्ग, विपिन शुक्ला, अशोक अग्रवाल, रंजीत गुप्ता ,दुर्गेश गुप्ता  विवेकवर्धन शर्मा, यशवंत जैन, अभिषेक शर्मा बट्टे, रिंकू जैन, रोहित मिश्रा, विजय बिंदास, राजकुमार शर्मा, आशुतोष शर्मा आदि उपस्थित थे। आभार प्रदर्शन की रस्म मंगलम के उपाध्यक्ष अशोक कोचेटा ने निर्वाह की जबकि कार्यक्रम का संचालन राजू बाथम ने किया। 
कुक्कू भाई का हुआ विशेष सम्मान
रक्तदान सहित अन्य सामाजिक गतिविधियों में विशेष योगदान देने वाले कुक्कू भाई का इस अवसर पर विशेष सम्मान मुख्य अतिथि सुनील कुमार पाण्डे, अध्यक्ष प्रहलाद भारती और विशिष्ट अतिथि मुन्नालाल कुशवाह ने किया। मंगलम ब्लड ग्रुप के मुख्य कर्ताधर्ता और संस्था के संचालक अमित खण्डेलवाल मोनू भाई ने मंच पर आकर कहा कि आज संस्था के वाट्सएप ग्रुप के माध्यम से रक्तदान को जो अटूट समर्थन मिला है उसमें कुक्कू भाई की महत्वपूर्ण और सराहनीय भूमिका रही है। यदि वह हमारे साथ नहीं होते तो रक्तदान के क्षेत्र में इतनी अधिक सफलता नहीं मिल पाती इसके अलावा पीडि़त मानवता के क्षेत्र में भी कुक्कू भाई उल्लेखनीय कार्य कर रहे हैं। जिन रक्तदाताओं का सम्मान हुआ उनमें अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कमल मौर्य भी थे जिन्होंने इस अवसर पर कहा कि वह अब फिर रक्तदान के लिए तैयार हैं। अपने उद्बोधन में श्री मौर्य ने स्वामी विवेकानंद से जुड़े कई संस्मरण भी सुनाए और कहा कि कर्तव्य के प्रति समर्पण उनका मुख्य लक्ष्य रहा और इसे आधार बनाकर हमें अपने कर्तव्य के निर्वहन में जुट जाना चाहिए।

Post a comment

0 Comments