Latest

latest

SHIVPURI: अधीक्षण यंत्री एम. के. मित्तल की विदाई पार्टी में भावुक हुए अधीनस्थ इंजीनियर्स

Sunday, 28 February 2021

/ by Durgesh Gupta

 


अधीक्षण यंत्री एम के मित्तल की रिटायरमेंट पार्टी में भावपूर्ण शुभकामनाएं दीं गईं 


शिवपुरी ।  गत दिवस सिंध परियोजना नहर मंडल शिवपुरी के अधीक्षण यंत्री श्री एम. के. मित्तल साहब की सेवानिवृति पर  विदाई पार्टी का  आयोजन स्थानीय पी. एस. रेसीडेंसी  होटल में समारोहपूर्वक सम्पन्न हुआ । विदाई पार्टी में श्री अभय सक्सेना  सब इंजीनियर की भी सेवानिवृति   विदाई की गई ।


इस अवसर पर प्रभारी अधीक्षण यंत्री श्री बी. डी. रतमेले का स्वागत भी किया गया । इंजी. मित्तल ने अपने उद्बोधन में अपनी उपलब्धियों में विभागीय वरिष्ठ अधिकारियों से मिले मार्गदर्शन और  सहयोगियों और अधीनस्थ इंजीनियरों से मिले सहयोग को ही मुख्य बजह बताया, शिवपुरी के भटनावर से जुड़ीं बचपन की यादें और करेरा में ससुराल होने औऱ सुपर क्लास वन ऑफिसर के रूप में शिवपुरी में ही शासकीय सेवा का पूर्ण होने पर शिवपुरी का भी विशेष आभार माना ।




 इंजी. अभय सक्सेना ने भी अपने विदाई भाषण में सभी वरिष्ठ अधिकारियों और सहकर्मियों का हार्दिक आभार प्रकट किया ।शिवपुरी से  नहर मंडल के मड़ीखेड़ा संभाग, नरवर, करेरा, डबरा संभागों के इंजीनियरों  ने एम के मित्तल साहब के मार्गदर्शन में किये गए कार्यों और उपलब्धियों की प्रशंसा करते हुए उनके व्यक्तित्व को प्रेरणादायी बताया । 


प्रभारी अधीक्षण यंत्री इंजी. बी डी रतमेले, कार्यपालन यंत्री इंजी. एस. के. अग्रवाल, इंजी. आशुतोष भगत, इंजी.ओ.पी. जैन, इंजी.अवधेश सक्सेना, अधीक्षक श्री आचार्य, इंजी. मनोहर बोराटे, इंजी. राकेश गोयल, इंजी. एन. के. शर्मा, डी. एम. राजेश भार्गव,  सिविल जज श्रीमती गोयल आदि वक्ताओं ने इंजी. मित्तल के व्यक्तिव पर अपने भावपूर्ण उद्गार प्रकट किए और सभी ने उनकी आदर्श दिनचर्या, ऊपर से कठोर और अंदर से मुलायम स्वभाव रखने वाले जीनियस और प्रेरणादायी    व्यक्तिव के रूप में चर्चा की । 

इस अवसर पर इंजी. मित्तल के सुपुत्र विवेक मित्तल द्वारा यू एस से भेजे गए वीडियो संदेश को बड़ी स्क्रीन पर सभी ने देखा जिसमें उनके परिजनों एवं विभागीय सहकर्मियों और मित्रों के शुभकामना संदेश भी शामिल थे, पार्टी में इंजी. मित्तल की माँ, पत्नी एवं अन्य परिजन भी उपस्थित थे ।


 विदाई पार्टी का  संचालन इंजी. अवधेश सक्सेना द्वारा सफलतापूर्वक किया गया, उन्होंने इंजीनियर की महत्ता को प्रदर्शित करती एक कविता और एक ग़ज़ल सेवानिवृत इंजीनियरों को समर्पित करते हुए सुनाईं " कभी तुम दूसरों को भी चमन के फूल तो बांटों, तुम्हारे हाथ में भी तो गुलाबों की महक होगी " " धड़कनें दिल की चलेंगीं ये सही से लय में, आपने ध्यान जो साँसों पे लगा रक्खा है । 


" इन रचनाओं को उपस्थित श्रोताओं द्वारा अत्यंत सराहा गया इस आयोजन में सिंध परियोजना के मुख्य अभियंता कार्यालय दतिया, कार्यपालन यंत्री कार्यालय करेरा, नरवर, डबरा एवं शिवपुरी के  स्टाफ सदस्य  भी उपस्थित रहे । नहर मंडल संरचना में आने वाले सभी कार्यालयों के इंजीनियरों द्वारा स्मृति उपहार भेंट किये गए और शॉल श्रीफल द्वारा सम्मानित किया गया । सेवानिवृति पर मिलने वाले लाभों के परिपत्र भी प्रभारी अधीक्षण यंत्री इंजी. रतमेले द्वारा इंजी. मित्तल को प्रदान किये गए । अंत में इंजी. पी. एस. रघुवंशी द्वारा आभार प्रकट किया गया ।

No comments

Post a comment

Don't Miss
© all rights reserved
made with by templateszoo