Latest

latest

शिवपुरी: जिले में 17 से 19 जनवरी 2021 तक चलाया जाएगा राष्ट्रीय पल्स पोलियो अभियान

Monday, 14 December 2020

/ by Durgesh Gupta

 



कलेक्टर ने अभियान को सफल बनाए जाने हेतु संबंधित अधिकारियों को दिए निर्देश

शिवपुरी। कोविड-19 के दिशा-निर्देशों को दृष्टिगत रखते हुए जिले में 17 जनवरी से 19 जनवरी 2021 तक राष्ट्रीय पल्स पोलियो अभियान का आयोजन किया जाएगा। संबंधित अधिकारी इस अभियान में जन्म से लेकर 5 वर्ष तक के बच्चों को टीकाकरण केन्द्रों पर पोलियों की दवा पिलाकर अभियान को सफल बनाए। कोई भी बच्चा दवा पीने से न छूटने पाए।

उक्त आशय के निर्देश आज कलेक्टर श्री अक्षय कुमार सिंह ने टास्कफोर्स समिति की बैठक में अधिकारियों को दिए। जिलाधीश कार्यालय के सभाकक्ष में आयोजित बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री एच.पी.वर्मा, अपर कलेक्टर श्री आर.एस.बालौदिया, सीएमएचओ डाॅ.ए.एल.शर्मा, डाॅ.संजय ऋषिश्वर, समस्त बीएमओ एवं संबंधित विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

कलेक्टर श्री अक्षय कुमार सिंह ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि राष्ट्रीय पल्स पोलियो अभियान के तहत जिले में जन्म से लेकर 5 वर्ष तक के बच्चों को पोलियों की दवा पिलाई गई। अभिभावकों को दवा के महत्व के बारे में जानकारी दी जाए और समय-समय पर आयोजित होने वाले राष्ट्रीय पल्स पोलिया अभियान के तहत 5 वर्ष तक के सभी बच्चों को पोलियों की दवा पिलाकर अभियान को सफल बनाए। 

कलेक्टर ने कहा कि 11 जनवरी से 13 जनवरी 2021 तक आयोजित होने वाले दस्तक अभियान की भी तैयारी की जाए। दस्तक अभियान में कम बजन के बच्चों को जांच कर आवश्यक उपचार दिया जाएगा।

कलेक्टर श्री अक्षय कुमार सिंह ने कहा कि आयुष्मान भारत योजनांतर्गत पात्र लोगों के कार्ड प्राथमिकता से बनाएं। इस कार्य के लिए ग्रामीण क्षेत्रों में शिविर लगाने के साथ-साथ प्रचार अभियान भी चलाए जाएं। उन्होंने आयुष्मान योजना की समीक्षा करते हुए आगे कहा कि पात्रताधारी सभी लोगों के कार्ड प्राथमिकता से बनाए जाएं। जिससे कार्डधारी व्यक्ति अस्वस्थ्य होने पर अपना समय पर उपचार करा सके। साथ ही उन्हें चिन्हित बीमारियों के समुचित लाभ के साथ-साथ साढ़े 5 लाख रूपए तक के उपचार की निःशुल्क सुविधा की पात्रता हासिल होगी। जिनके पास आयुष्मान योजना का कार्ड होगा।

जिला टीकाकरण अधिकारी डाॅ.संजय ऋषिश्वर ने बताया कि अभियान के दौरान कोई भी बच्चा पोलियों की खुराक पीने से बंचित न रहे। इसके लिए मोबाइल टीमों के माध्यम से घूमंतू जातियों, सड़क निर्माण, क्रेशर, ईट-भट्टो पर स्थित माइग्रेटिंग जनसंख्या में पोलियों की दवा पिलाई जाएगी।

No comments

Post a comment

Don't Miss
© all rights reserved
made with by templateszoo