शिवपुरी जिले में एक सप्ताह के लिए रहेगा लॉक डाउन, जिले की व्यवस्थाओं को लेकर क्राइसिस मैनेजमेंट समूह की बैठक आयोजित




शिवपुरी। पिछले दो दिनों में बढ़े कोरोना पॉजिटिव केस को देखते हुए जिले की व्यवस्थाओं को लेकर जिला प्रशासन द्वारा क्राइसिस मैनेजमेंट समूह की बैठक आयोजित की गई और इस सप्ताह के लिए बाजार खोलने, आवश्यक सेवाएं आदि उपलब्ध कराने के संबंध में चर्चा की गई। बैठक में समूह के सदस्यों द्वारा एक सप्ताह का लॉकडाउन रखने का सुझाव भी दिया गया।

इस दौरान पुलिस अधीक्षक श्री राजेश सिंह चंदेल, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री एच.पी.वर्मा, अपर कलेक्टर श्री आर.एस.बालोदिया, एसडीएम श्री अरविंद बाजपेई, एसडीओपी श्री शिव सिंह भदोरिया सहित क्राइसिस मैनेजमेंट समूह के सदस्य उपस्थित थे। सोमवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित बैठक में व्यापारी संघ, इलेक्ट्रिकल्स, होटल, सब्जी मंडी, पेट्रोल पंप संचालक सहित विभिन्न धर्मों के धर्मगुरु उपस्थित थे।


कलेक्टर श्रीमती अनुग्रहा पी ने कहा है कि दो-तीन दिनों में जिले में लगातार पॉजिटिव केस आ रहे हैं इसलिए सतर्क होने और अधिक सावधानी बरतने की आवश्यकता है। इसमें समाज के सभी प्रबुद्धजन भी अपनी भूमिका का निर्वहन करें और लोगों को बचाव के उपाय अपनाने के लिए प्रेरित करें। उन्होंने कहा है कि सभी सोशल डिस्टेंस का पालन करें और मास्क अवश्य लगाएं। अति आवश्यक होने पर ही घर से बाहर निकले। उन्होंने कहा है कि मास्क ना लगाने वाले पर जुर्माना राशि लगाया जाएगा और अब जुर्माना राशि में भी बढ़ोतरी की जाएगी।

सात दिवस के लिए लॉकडाउन, सभी आवश्यक वस्तुओं की होगी आपूर्ति

बैठक में क्राइसिस मैनेजमेंट समूह के साथ चर्चा कर यह निर्णय लिया गया है कि संक्रमण के फैलाव को रोकने के लिए सात दिवस के लिए लॉकडाउन रखा जाएगा लेकिन इस दौरान सभी आवश्यक वस्तुएं जैसे दूध, दवा, सब्जियां आदि की आपूर्ति में कमी नहीं होगी। सब्जी के ठेले वार्डवार जाकर सब्जी विक्रय करेंगे। मंगलवार को शिवपुरी नगरपालिका सीमा क्षेत्र में लॉकडाउन रखा गया है। बुधवार को किराना दुकान खुलेंगे और इस प्रकार सात दिवस के लॉकडाउन में किराना दुकान एक दिन छोड़कर खुलेंगी।

धार्मिक स्थलों में केवल धर्मगुरु पूजा प्रार्थना करें बैठक में चर्चा करते हुए कलेक्टर श्रीमती अनुग्रहा पी ने कहा है कि लॉकडाउन के दौरान धार्मिक स्थलों पर भी भीड़ एकत्रित नहीं करना है। धार्मिक स्थलों पर धर्मगुरु पूजा प्रार्थना करें और आमजन में प्रवेश ना दें।

Post a comment

0 Comments