शिवपुरी: कलेक्टर ने की उपार्जन की समीक्षा, समय पर अनाज परिवहन कराने के निर्देश



शिवपुरी। कलेक्टर अनुग्रहा पी ने सोमवार को आयोजित बैठक में जिले में उपार्जन की समीक्षा की और संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि आपसी समन्वय से काम करें। उपार्जन प्रक्रिया में कोई समस्या नहीं आए। प्रतिदिन जितनी खरीदी की जा रही है उसी के अनुसार लगातार गोदामों में भंडारण के लिए परिवहन होना चाहिए। 

यदि कहीं लेबर की समस्या है तो उसका समाधान करें।
कलेक्टर ने कहा है कि उपार्जन केंद्रों पर निरीक्षण के लिए जिला अधिकारियों की ड्यूटी लगाई गई है। वह केंद्रों पर जाकर देखें और किसी प्रकार की कमी पाई जाती है तो संबंधित अधिकारी को अवगत कराएं।


किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग के उपसंचालक श्री तोमर को उपार्जन केंद्रों पर निगरानी के लिए क्षेत्रीय कृषि विस्तार अधिकारियों की ड्यूटी लगाने के निर्देश दिए हैं और कहा है कि उन्हें प्रतिदिन की रिपोर्ट देना है। यह देखना है कि जितना गेहूं खरीदा जा रहा है उसी के अनुसार रसीद दी जा रही हैं। 

अनियमितता करने वालों पर कार्यवाही भी होना चाहिये। साथ ही सभी एसडीएम यह ध्यान दें कि नाके पर तैनात टीम सतर्कता के साथ काम करें। बाहर से गेहूं, चना, मसूर सरसों, प्याज नहीं आना चाहिए।


बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री एच.पी.वर्मा, अपर कलेक्टर श्री आर.एस.बालोदिया, समस्त एसडीएम, सहायक कलेक्टर श्रीमती काजल जावला सहित जिला अधिकारी मौजूद थे।


1 लाख 69 हजार मीट्रिक टन से अधिक गेहूं खरीदी

बैठक में कॉपरेटिव बैंक के प्रबंधक श्री वाई.के.सिंह ने बताया कि जिले में किसानों से कुल 70 खरीदी केंद्रों पर समर्थन मूल्य पर अभी तक एक लाख 69 हजार मीट्रिक टन से अधिक की गेहूं खरीदी की गई है। जिसमें 91 प्रतिशत गेहूं अनाज का गोदामों में भंडारण किया गया है। उन्होंने बताया कि जिले में अभी तक की गई खरीदी का 155 करोड़ से अधिक की राशि का भुगतान भी किसानों को किया गया है।

Post a comment

0 Comments