शिवपुरी: ग्रामीणों ने ली गांव को मलेरिया मुक्त बनाने की शपथ



शिवपुरी। विश्व मलेरिया दिवस के अवसर पर गोदरेज के सहयोग से फेमिली हेल्थ इण्डिया, जिला स्वास्थ्य समिति व कल्पतरु के संयुक्त तत्वाधान में क्रियान्वित एम्बेड परियोजना के तहत ब्लाक पिछोर के ग्राम गणेशखेडा व खनियाधाना के ग्राम देवखो एवं रूपनवारा में एम्बेड टीम द्वरा ग्रामीणों को कोरोना संक्रमण एवं मलेरिया व डेंगू से बचाव हेतु आवश्यक सावधानियों से अवगत कराते हुए अपने गाँव को कोरोना व मलेरिया मुक्त बनाने की शपथ दिलाई।




इस दौरान टीम द्वरा घर-घर जा कर लोगों को मलेरिया व डेंगू से बचने हेतु आवश्यक साधन मच्छरदानी, मच्छर रोधी क्रीम, कोईल, फास्ट कार्ड फुल कपडे आदि अपनाने की अपील की साथ ही साथ पानी को ढँककर रखने व बर्षा से पहले मच्छर पैदा होने वाली परिस्थितियों जैसे गड्डों तथा घरों से कबाड़ आदि को भी समाप्त करेने की सलाह दी गई ताकि मच्छरों की पैदाईश पर नियंत्रण किया जा सके।


इसके साथ-साथ कोरोना वाइरस संक्रमण से बचाव हेतु आवश्यक सन्देश जैसे -नियमित मास्क का उपयोग, सामामिक दूरी को बनाए रखने, स्वच्छता का विशेष ध्यान रखने के लिए भी ग्रामीणों को प्रेरित किया गया।


टेलीकान्फ्रेंस के माध्यम से मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ.ए.एल.शर्मा द्वारा टीम को संबोधित करते हुए क्षेत्र में मच्छर के लार्वा विनिष्टीकरण की कर्यवाही करने की अपील की गयी। साथ ही जिला मलेरिया अधिकारी श्री लालजू शाक्य द्वारा मच्छर व गन्दगी तथा गंदे पानी से होने वाली बीमारियों तथा कुपोषण से बचने हेतु आवश्यक सावधानियों को अपनाने हेतु लोगो को प्रेरित किये जाने की बात कही।


कार्यक्रम के लगातार क्रम में सभी ग्रामों में एम्बेड टीम द्वारा सामाजिक दूरी स्थापित करने का प्रयास भी किया जा रहा है। जिसके तहत आज गणेशखेडा शा. मा. विद्यालय में दूरी कायम कर 30 स्कूली बच्चों को अनाज वितरण करवाया गया।


एम्बेड टीम द्वरा किये जा रहे प्रयासों के तहत, स्कूली बच्चों के साथ साथ ग्राम रूपनवारा, देवखो एवं गणेशखेडा के ग्रामीणों ने अपने-अपने गाँव को मलेरिया, डेंगू व कोरोना संक्रमण से बचाने हेतु आवश्यक साधन व सावधानियों को हमेशा अपनाने और गाँव को स्वच्छ सुरक्षित बनाने की शपथ भी ली। इस अवसर पर ग्रामीण आशा एवं आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, शिक्षक व एम्बेड टीम से चन्दन, महेश, रियाज, सतेन्द्र, हरगोविंद, केशव, विवेक एवं दीपक का विशेष योगदान रहा।

Post a comment

0 Comments