महिलाएं, पुरूषों से किसी भी क्षेत्र में पीछे नहीं है: सांसद श्री सिंधिया




शिवपुरी: पूर्व केन्द्रीय मंत्री एवं सांसद श्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि देश में पुरूषों को महिलाओं के प्रति अपनी मानसिकता में बदलाव लाना होगा। इस देश की महिलाओं ने देश के सर्वोच्च पदों पर रहकर देश की सेवा कर यह सिद्ध कर दिया है कि महिलाए पुरूषों से किसी भी क्षेत्र में पीछे नहीं है। इस बात की खुशी है कि शिवपुरी जिले की कलेक्टर एवं जिला पंचायत अध्यक्ष भी महिलाएं है। 


सांसद श्री ज्योतिरादित्य सिंधिया आज म.प्र.डे राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के द्वारा जिला स्तरीय महिला स्वसहायता समूह के सम्मेलन को मुख्य अतिथि के रूप में संबोधित कर रहे थे। आयोजित कार्यक्रम की अध्यक्षता जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती कमलादेवी ने की। इस मौके पर कलेक्टर श्रीमती अनुग्रह पी, नगर पालिका अध्यक्ष श्री मुन्नालाल कुशवाह, उपाध्यक्ष श्री अनिल शर्मा अन्नी, कांग्रेस कमेटी के प्रदेश महामंत्री श्री हरवीर सिंह रघुवंशी, पूर्व विधायक श्री महेन्द्र सिंह यादव, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री राजेश जैन, एसआरएलएम शिवपुरी के जिला परियोजना प्रबंधक डॉ.अरविंद भार्गव आदि मंचासीन थे। इस मौके पर जनप्रतिनिधि एवं बड़ी संख्या में महिला स्वसहायता समूह की महिला सदस्य आदि उपस्थित थे। 



श्री सिंधिया ने कहा कि हमें महिलाओं को उनकी प्रतिभा का प्रदर्शन करने के लिए अवसर देना होगा और समाज को महिलाओं के प्रति अपनी मानसिकता एवं सोच को भी बदलने की आवश्यकता है। उन्होंने आजीविका मिशन की 9 हजार 406 स्वसहायता समूहों से 1 लाख 12 हजार 62 महिलाओं के जुड़े होने पर प्रसंनता व्यक्त करते हुए उनकी कला एवं क्षमताओं की सराहना की। उन्होंने कहा कि इन महिलाओं में मेहनत एवं क्षमता की कोई कमी नहीं है। आवश्यकता इस बात की है कि हम उन्हें प्रोत्साहित करें और आगे आने का अवसर दें। उन्होंने कहा कि महिला स्वसहायता समूह की महिलाओं को आगे लाने के लिए उनके द्वारा हर संभव सहायता उपलब्ध कराई जाएगी। समूह द्वारा उत्पादित सामग्री की भी जानकारी प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ को दी जाकर उत्पादित सामग्री का प्रदेश में बाजार उपलब्ध कराने के लिए भी चर्चा करेंगे। उन्होंने समूहों की महिलाओं से आग्रह करते हुए कहा कि प्रतिस्पर्दा के युग में उत्पादित सामग्री की गुणवत्ता भी अच्छी हो। जिससे उसे बाजार में बेहतर स्थान मिल सके।





श्री सिंधिया ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि महिला सशक्तिकरण की दिशा में जिले में जो आयोजन किया गया है, वह एक सराहनीय है। उन्होंने कहा कि हमें महिलाओं के प्रति मानसिकता बदलना होगी। महिलाएं हर क्षेत्र में पुरूषों से आगे रही है। हमारे लिए यह खुशी की बात है कि जिला कलेक्टर, जिला पंचायत अध्यक्ष के पद पर महिलाए पदस्थ है। उन्होंने कहा कि आज के आयोजन से भी यह सिद्ध हुआ है कि कार्यक्रम में पुरूषों की अपेक्षा महिलाएं बहुसंख्यक में उपस्थित हुई है। 

श्री सिंधिया ने कहा कि देश के पूर्व प्रधानमंत्री स्व.अटलबिहारी वाजपेयी ने संसद में पूर्व प्रधानमंत्री स्व.इंदिरा गांधी के कार्यों की सराहना कर उन्हें दुर्गा स्वरूप बताया था। उन्होंने कहा कि देश के सर्वोच्च राष्ट्रपति पद पर श्रीमती प्रतिभा पाटिल, लोक सभा अध्यक्ष के रूप में श्रीमती मीरा कुमार एवं वर्तमान अध्यक्ष के रूप में सुमित्रा महाजन और लोकसभा में विपक्ष के नेता के रूप में सुषमा स्वराज ने बखूबी अपने दायित्वों का निर्वाहन किया है। कार्यक्रम के शुरू ने कलेक्टर श्रीमती अनुग्रह पी ने आयोजन की विस्तार से जानकारी देते हुए बताया कि महिलाओं द्वारा स्वसहायता समूहों की माध्यम से बच्चों की ड्रेस सिलाई, सेनेट्री नेपकिन, साबुन निर्माण के साथ-साथ अगरबत्ती निर्माण के साथ पोषण आहार का निर्माण का 8 जिलों के लिए प्रदाय किया जाएगा। उन्होंने कार्यक्रम में उपस्थित सभी लोगों से आग्रह करते हुए कहा कि आज इस कार्यक्रम के माध्यम से यह संकल्प लें कि उनकी बेटी महाविद्यालय तक की शिक्षा अवश्य ग्रहण करें। इस मौके पर विभिन्न स्वसहायता समूहों की महिलाओं को भी लाभांवित किया गया। कार्यक्रम का संचालन श्रीमती कामना सक्सेना ने किया।

स्वसहायता समूह द्वारा उत्पादित सामग्री के स्टॉलों का किया निरीक्षण



सांसद श्री ज्योतिरादित्य सिंधिया एवं कलेक्टर श्रीमती अनुग्रह पी ने महिला स्वसहायता समूहों द्वारा उत्पादित की गई। विभिन्न सामग्रियों पर केन्द्रित स्टॉलों का निरीक्षण कर उत्पादकों की सराहना की। 

सांसद को स्वसहायता समूह ने भेंट की जैकेट



कार्यक्रम के दौरान महिला स्वसहायता समूह द्वारा निर्मित जैकेटों में से अन्य सामग्रियों के साथ सांसद श्री सिंधिया को जैकेट भी भेंट की गई। जिसे श्री सिंधिया ने त्वरित पहनकर कहा कि आज दिनभर के कार्यक्रम वे इसी जैकेट में करेंगे। 

Post a comment

0 Comments