संस्कृति और सांस्कृतिक समारोह की धरोहर है स्कूलों का वार्षिकोत्सव : एसपी सुनील कुमार पाण्डे


'झंकार Ó थीम पर आयोजित हुआ गुरूनानक dcस्कूल का वार्षिकोत्सव समारोह

शिवपुरी-बच्चों को स्कूलों में संस्कृति और सांस्कृतिक कार्यक्रमों के माध्यम से उनकी प्रतिभाओं को निखारने का अवसर होता है स्कूलों का वार्षिकोत्सव, गुरूनानक स्कूल के विद्यार्थियों ने शिक्षा, नृत्य, स्वास्थ्य, मनोरंजन और ऐसे सांस्कृतिक कार्यक्रम जिनसे भारतीय कला की पहचान प्रदर्शित होती है ऐसे अनुभव जिस विद्यालय में मिले वहां निश्चित रूप से बच्चों का शारीरिक और बौद्धिक विकास होता है इस तरह के आयोजन समय-समय पर होते रहना चाहिए ताकि बच्चों भी विभिन्न कलाओं में पारंगत होकर शिक्षा और स्वयं आत्मनिर्भर बनकर देश और समाज का नाम रोशन कर सकें। उक्त उद्गार प्रकट किए पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार पाण्डे ने जो स्थानीय स्कूल कैम्पस फतेहपुर पिपरसमां रोड़ शिवपुरी पर गुरूनानक स्कूल राघवेन्द्र नगर एवं महावीर नगर शाखा द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित 'झंकारÓ विषय पर केन्द्रित वार्षिकोत्सव समारोह को मुख्य अतिथि की आसंदी से संबोधित कर रहे थे।

कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि मानव अधिकार आयोग के जिला संयोजक आलोक एम.इन्दौरिया रहे जबकि अध्यक्षता प्रायवेट स्कूल एसोसिएशन के अध्यक्ष राजेश गुप्ता राम सहित विद्यालय के संचालक एम.एस.अरोरा-श्रीमती एस.के.अरोरा, डायरेक्टर महिपाल अरोरा मंचासीन थे।
कार्यक्रम का शुभारंभ मॉं सरस्वती के चित्र पर दीप प्रज्जवलन व माल्यार्पण के साथ हुआ तत्पश्चात अतिथिद्वयों का माल्यार्पण कर स्वागत किया गया। कार्यक्रम में स्वागत भाषण एवं विद्यालय की वार्षिक गतिवधियों का समस्त ब्यौरा गुरूनानक स्कूल के डायरेक्टर महिपाल अरोरा ने दिया जबकि संचालन श्रीमती नीलम अरोरा-श्रीमती शारदा अरोरा द्वारा संयुक्त रूप से किया गया। अंत में आभार प्रदर्शन विद्यालय संचालक एम.एस.अरोरा द्वारा व्यक्त किया गया। कार्यक्रम में विभिन्न स्कूलों के विद्यालय संचालक, बच्चे व बच्चों के अभिभावकगण मौजूद रहे करीब 5 हजार की संख्या में मौजूद लोगों ने देर रात तक गुरूनानक स्कूल के इस वार्षिकोत्सव समारोह का आनन्द लिया और अंत में राष्ट्रगीत गायन के बाद कार्यक्रम का समापन किया

Post a comment

0 Comments