लो जनता फिर बन गई मूर्ख, अब एक रुपए किलो महंगा मिलेगा दूध - samay khabar

ताजा खबरों के लिए FB पेज को Like करे

लो जनता फिर बन गई मूर्ख, अब एक रुपए किलो महंगा मिलेगा दूध

Share This

- मनमाने ढंग से बढ़ा दिए गए दूध के दाम

- अब जनता को 37 रुपए किलो मिलेगा दूध, दूधिए और डेयरी संचालक रहे फायदे में

शिवपुरी।

शहर में दूधिए की जो हड़ताल तीन दिन से चल रही थी उसमें जनता फिर से मूर्ख बन गई। दूधिए और डेयरी संचालकों की इस हड़ताल के बाद मंगलवार को इन दोनों पक्षों में समझौता हो गया है। इस समझौते में अब जनता को एक रुपए प्रति किलो दूध बढ़कर मिला करेगा। यानि की अब दूध के दाम 37 रुपए होंगे। तीन दिन से चल रही इस हड़ताल में जनता को कोई फायदा नहीं हुआ। दूधिए और डेयरी संचालक जरूर फायदे में रहे। अब दूधिए को डेयरी संचालक प्रति किलो 33 रुपए चुकाएंगे इसके बाद 4 रुपए प्रति किलो अपना कमीशन बीच में खाने के बाद डेयरी संचालक ग्राहकों को यही दूध 37 रुपए किलो में देंगे। एसडीएम की मौजदूगी में मंगलवार को दोनों पक्षों में यह सहमति बनी है।

सेंटिंग का नतीजा थी यह हड़ताल

सूत्रों ने बताया है कि तीन दिन से चल रही यह हड़ताल पूरी तरह से प्रायोजित थी। इसमें कुछ दूघ माफिया और नेताओं का हाथ रहा है। इस हड़ताल में तीन दिन से जनता परेशान हो रही थी और अब कुछ रुपए डेयरी संचालकों और दूधिए का बढ़ने से फायदा इनका हो गया  और जनता अब एक रुपए ज्यादा चुकाने को मजबूर होगी।

*मानक स्तर की गाइडलाइन का कोई नहीं कर रहा पालन*

शहर में जो दूध बिकता है उसमें किस तरह मिलावट होती है इसकी पोल दूधिए और डेयरी संचालकों की लड़ाई में सामने आ रही है। बताया जा रहा है कि शहर में 60 से 70 प्रतिशत फेट वाला जो दूध होना चाहिए वह लोगों को 36 रुपए किलो का रेट देने के बाद भी नहीं मिल रहा है। केवल 150 से 200 ग्राम प्रति किलो पर खोआ निकलने पर रेट तय कर दिए जाते हैं। जबकि फेट अनुसार दूध के रेट होने चाहिए। मंगलवार को जो समझौता दूधिए और डेयरी संचालकों के मध्य हुआ है उसमें इस मुद्दे को दरकिनार कर दिया गया है। 

No comments:

Post a comment

Pages