RTI एक्टिविस्ट की चाकुओं से गोद कर हत्या,पंचायतों के करप्शन करता था एक्सपोज

                                     RTI एक्टिविस्ट मुकेश दुबे की हत्या, पंचायतों के घोटाले करता था उजागर
ग्वालियर. मुरैना में RTI एक्टिविस्ट की चाकुओं से गोदी गई बॉडी खेत के किनारे मिलने से सनसनी फैल गई। सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची, और प्रारंभिक छानबीन के बाद मृतक की शिनाख्त एक्टिविस्ट मुकेश दुबे के रूप में की। बॉडी की हालत देख पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर बॉडी पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दी। मामले की जांच शुरू कर दी गई है। ये है मामला....

- मंगलवार सुबह मुरैना के घुरैया बसई के ग्रामीणों ने सुमावली पुलिस को सूचना दी कि एक युवक की खून से लथपथ बॉडी खेतों में पड़ी हुई है। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और बॉडी की जांच की। प्रारंभिक जांच में बॉडी पर मारपीट और धारदार हथियार की चोटों के निशान मिले।
            शहर से दूर खेत में मिली मुरैना के RTI एक्टिव्सट की बॉडी
- पुलिस ने बॉडी की तलाशी ली जेब से मिले दस्तावेज से मरने वाले की शिनाख्त मुरैना के रहने वाले मुकेश दुबे के रूप में हुई है। मुकेश दुबे RTI एक्टिविस्ट था और ग्राम पंचायतों में हो रहे करप्शन उजागर करत रहा था।
- मुकेश दुबे मुरैना का रहने वाला था, लेकिन उसकी लहूलुहान बॉडी शहर से दूर गांव के खेत में मिलने से आशंका है कि हत्या कर उसकी बॉडी को किसी व्हीकल से लाकर फेंका गया।
- हालात देखते हुए पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। मुरैना SP आदित्यप्रताप सिंह ने बताया कि प्रारंभिक छानबीन के आधार पर मुकेश दुबे का सुमावली पुलिस थाने में छिटपुट क्राइम का रिकार्ड भी मिला है। पुलिस उसके RTI एक्टिविस्ट और क्रिमिनल रिकार्ड दोनों को ध्यान में रख जांच कर रही है।

Post a comment

0 Comments