गौरी लंकेश की हत्या पर रविशंकर प्रसाद बोले - संघ और बीजेपी कार्यकर्ताओं का मानवाधिकार नहीं?


नई दिल्ली: गौरी लंकेश की हत्या को लेकर आरएसएस और बीजेपी पर उठ रहे सवालों को लेकर बीजेपी के वरिष्ठ नेता रविशंकर प्रसाद ने कहा है कि गौरी लंकेश की हत्या दुर्भाग्यपूर्ण है. लेकिन हम कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया से सवाल पूछना चाहते हैं कि राहुल गांधी ने इस हत्या के तुरंत बाद ही सर्टिफिकेट दे दिया है कि इसके पीछे दक्षिणपंथी हैं तो आपकी पुलिस जांच में क्या कर रही है.

बीजेपी विधायक का सनसनीखेज बयान, गौरी लंकेश ने RSS के खिलाफ न लिखा होता तो वह जिंदा होतीं

रविशंकर प्रसाद ने कहा कि बुद्धिजीवी वर्ग के लोग जो सोशल मीडिया पर बड़ी बड़ी टिप्पणियां कर रहे हैं तो मैं उनसे सवाल करना चाहता हूं कि अगर वह गौरी लंकेश की हत्या पर क्रोधित हैं, जो कि होना चाहिए तो इतनी बड़ी संख्या में केरल और कर्नाटक में संघ और बीजेपी के कार्यकर्ताओं की हत्या पर चुप क्यों रहे. बोलने की आजादी में गौरी लंकेश की हत्या का विरोध करते हैं तो संघ और बीजेपी के कार्यकर्ता की हत्या पर भी विरोध जताना चाहिए.जब संघ का कोई कार्यकर्ता मारा जाता है तो क्या उसका कोई मानवाधिकार नहीं है. बेशक हर किसी को अपनी बात कहने का अधिकार है और हम हर किसी का सम्मान करते हैं.

गौरी लंकेश हत्याकांड के 72 घंटे बाद भी पुलिस खाली हाथ, जारी किए ईमेल आईडी, फोन नंबर

उन्होंने आगे कहा कि कर्नाटक की यह घटना पहली नहीं है. कलबुर्गी के हत्यारों को भी अभी तक नहीं पकड़ा जा सकता है. वहां सरकार किसकी है. राहुल गांधी हमसे सवाल कर रहे हैं, लेकिन क्या उन्होंने सीएम सिद्धारमैया से सवाल किया है. रविशंकर प्रसाद ने कहा कि इस पर राजनीति नहीं होनी चाहिए. जो गलत है वह गलत है. हम उम्मीद करते हैं कि कर्नाटक सरकार इस पर ईमानदारी से जांच करेगी.

Post a comment

0 Comments