घर में जांचें दूध, पनीर, घी आदि की मिलावट


दूध में केवल पानी ही नहीं बल्कि कई तरी की चीजें मिलाई जाती हैं, जिसमें वनस्पति तेल, डिटर्जेट से लेकर यूरिया तक शामिल है।

ऎसे करें पहचान

- आधा कप दूध में बराबर मात्रा में पानी मिलाएं, अगर उसमें झाग आए तो समझ जाएं कि उस दूध में डिटर्जेट मिला हुआ है।
- सिंथेटिक दूध की पहचान करने का आसान तरीका है दूध को हथेलियों के बीच रगड़ें, अगर यह साबुन जैसा लगे तो यह सिंथेटिक दूध हो सकता है। इसके अलावा सिंथेटिक दूध गर्म करने पर हल्का पीला हो जाता है।
- दूध में स्टार्च है या नहीं यह पता करने के लिए दूध में कुछ बूंदें आयोडीन टिंचर या आयोडीन सॉल्यूशन की डालें। अगर दूध का रंग नीला हो जाए तो समझ लें कि इसमें स्टार्च है। आयोडीन टिंचर आसानी से मेडिकल स्टोर पर मिल जाता है।
- दूध में वनस्पति की जांच करने के लिए तीन मिलिलीटर दूध में 10 बूंदें हाइड्रोक्लोरिक एसिड की डालें और एक चम्मच चीनी डालें। पांच मिनट बाद अगर दूध का रंग लाल हो जाए तो समझ जाएं कि उसमें वनस्पति मिला है।
- दूध में पानी की जांच करने के लिए दूध की कुछ बूंदें किसी सतह पर डालें। इस सतह को थोड़ा टेढ़ा करें। अगर दूध की बूंद धीरे धीरे ढलान की तरफ जाए और पीछे सफेद लकीर छोड़े तो इसमें पानी नहीं मिला है, वहीं अगर दूध की बूंद तेजी से ढलान की तरफ फिसल जाए और पीछे निशान भी न छोड़े तो इसमें पानी मिला है।
त्योहारों के दौरान अक्सर मावे में मिलावट पाई जाती है। मावे में सिंथेटिक दूध, मैदा, वनस्पति घी, आलू, आरारोट आदि मिलाया जाता है।

ऎसे करें पहचान

- मावे पर फिल्टर आयोडीन की दो से तीन बूंदे डालें, अगर यह काला पड़ जाए तो समझ लें कि यह मिलावटी है।
- अगर चखने पर मावा थोड़ा कड़वा और रवेदार महसूस हो तो इसमें वनस्पति घी मिला है।
- मावा लेते वक्त उंगलियों में मसल कर देखें, अगर यह दानेदार है तो यह मिलावटी हो सकता है।
- मावे की कुछ मात्रा को पानी में उबालें, ठंडा होने पर इसमें कुछ बूंदें आयोडीन टिंचर की डाल दें। अगर मावे का रंग नीला पड़ जाए तो इसमें स्टार्च है।

पैक पर लिखे शुद्ध देशी घी पर न जाएं, यह मिलावटी हो सकता है। घी में आलू, आरारोट और रिफाइंड आदि मिलाया जाता है।

ऎसे करें पहचान

- एक चम्मच पिछला हुआ घ्ज्ञी लें और इसमें बराबर मात्रा में हाइड्रोक्लोरिक एसिड और एक चम्मच चीनी मिलाएं। इसे पांच मिनट तक छोड़ दें। अगर इसक रंग लाल या गुलाबी हो जाए तो समझ लें कि घी में मिलावट है।
- घी में कुछ बूंदें आयोडीन टिंचर की मिला दें अगर घी का रंग नीला हो जाए तो समझ लें कि इसमें आलू या शकरकंदी या अन्य स्टार्च मिलाया गया है।

Post a comment

0 Comments