शेरो के झुण्ड चारो और चक्कर लगाते रहे ,वह बन गई माँ

डॉक्टर से फोन पर बात कर उनके बताए अनुसार करीब आधा घंटे में डिलेवरी करा दी।इस परे वाकये के दौरान शेर उनकी गाड़ी के चारों ओर चक्कर लगाते रहे। बाद में नवजात को बेबी वॉर्मर में रखने के बाद ड्राइवर ने धीरे-धीरे वहां से गाड़ी को निकालने का प्रयास किया। थोड़ी मशक्कत के बाद उसे सफलता मिल गई।


अहमदाबाद- गुजरात में आश्चर्यचकित कर देने वाली एक घटना सामने आई है। करीब 12 शेरों के झुंड के बीच एक महिला ने बच्चे को जन्म दिया है। महिला को अस्पताल ले जाने के दौरान एम्बुलेंस को शेरों के झुंड ने घेर लिया और एम्बुलेंस आगे नहीं जा सकी। इस दौरान प्रसव पीड़ा से तड़प रही महिला की डिलेवरी एम्बुलेंस में ही करानी पड़ी।
अमरेली के जाफराबाद तालुका में लुंसापुर गांव में बुधवार रात प्रसव पीड़ा शुरू होने के बाद महिला के घरवालों ने 108 नंबर पर आपातकालीन एम्बुलेंस सेवा को फोन किया। एम्बुलेंस महिला को लेकर अस्पताल जा रही थी, लेकिन गांव से कुछ दूर आगे जाने पर एम्बुलेंस के सामने करीब 12 शेरों का झुंड आ गया। शेरों ने एम्बुलेंस को घेर लिया और एम्बुलेंस वहीं अटक कर रह गई।बाद में महिला और नवजात को जाफराबाद सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया।

अक्सर रास्ते में दिखते हैं शेरएम्बुलेंसकर्मियों के अनुसार उनका कई बार ऐसे ही रास्ते में शेरों से सामना हुआ है। अमरेली के गांवों में अक्सर शेर दिखते हैं। इस कारण उनके स्टाफ को भी ऐसी स्थिति से निबटने की ट्रेनिंग दी गई है। 




एम्बुलेंसकर्मियों ने बताया कि उन्होंने एम्बुलेंस को रोक कर शेरों के हटने का इंतजार किया, लेकिन शेर वहां से हट नहीं रहे थे। इस दौरान गर्भवती महिला को प्रसव पीड़ा के साथ रक्तस्राव शुरू हो गया। ऐसे में एम्बुलेंस स्टाफ को गाड़ी में ही प्रसव कराना पड़ा।

Post a comment

0 Comments