पत्रकार आंदोलन,चौथे दिन , लोकतंत्र की आवाज़ को मिला क्षत्रिय महासभा ,एनएसयूआई, का समर्थन

शिवपुरी। प्रभारी कलेक्टर नेहा सिंह मारव्या के रवैए को लेकर पत्रकारों द्वारा कलेक्ट्रेट के बाहर जारी धरने के आज चौथे दिन कई संगठनों ने अपना समर्थन दिया, जहां एक ओर राजनैतिक दल कांग्रेस की छात्र इकाई एनएसयूआई ने धरना स्थल पर पहुंचकर अपना समर्थन दिया, वहीं दूसरी ओर सामाजिक संगठन अखिल भारतीय क्षत्रिय युवा महासभा ने इस संबंध में एक ज्ञापन भी उप जिलाधीश प्रजापति को सौंपा। इनके अलावा भी कई संगठनों ने घोषित-अघोषित रूप से पत्रकारों के इस आंदोलन को अपना समर्थन दिया है। अखिल भारतीय क्षत्रिय युवा महासभा के नाम से कलेक्टर के नाम संबोधित ज्ञापन में कहा गया है कि पत्रकार बंधु भारतीय लोकतंत्र में शामिल वह स्तंभ हैं जो समाज के प्रथम छोर से अंतिम छोर तक मौजूद हर किसी व्यक्ति एवं आवाम की दबी आवाज को बुलंद करते हैं। जब भी हमारी आवाम किसी संकट में होती है तो पत्रकार बंधु ही उनके मामलों को उठाकर अपनी बात रखते हैं और इसी आवाज को आज अनिश्चितकालीन धरने पर बैठना पड़ा है जो दुखद है। ज्ञापन में यह चेतावनी भी दी गई है कि यदि जल्द ही इस मामले का सम्मानजनक हल नहीं निकला तो अखिल भारतीय क्षत्रिय युवा महासभा संपूर्ण ग्वालियर चंबल संभाग में विरोध दर्ज कराएगी। वहीं दूसरी ओर एनएसयूआई जिलाध्यक्ष पुनीत शर्मा ने भी अपने साथियों के साथ धरना स्थल पर पहुंचकर पत्रकारों के इस आंदोलन को अपना समर्थन दिया। आंदोलन के चौथे दिन आज सुबह से ही धरना स्थल पर काफी गरमाहट देखी जा रही है। माना यह जा रहा है कि लोकतंत्र के चौथे स्तंभ के इस धरना प्रदर्शन के चौथे दिन भी शासन, प्रशासन इसको समाप्त नहीं करा पाया यह उनके लिए आगे चलकर एक बड़ी समस्या साबित हो सकता है।                        

Post a comment

0 Comments