हर वर्ष 40 हजार करोड़ रूपए कुतर देते थे भ्रष्टाचारी चूहे..


अलीगढ़:प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भ्रष्टाचारियों को किसी भी हालत में नहीं बख्शने का संकल्प दोहराते हुए कहा कि हर वर्ष भ्रष्टाचारी चूहे 40 हजार करोड़ रुपए कुतर देते थे। मोदी ने यहां विजयशंखनाद रैली को सम्बोधित करते हुए समाजवादी पार्टी (सपा) को भी खूब ललकारा और कहा कि अखिलेश यादव किसी को भी पकड लें, किसी से भी गठबंधन कर लें लेकिन भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की चल रही आंधी में वह टिक नहीं पाएंगे। प्रधानमंत्री ने कहा कि भ्रष्टाचार का आलम यहां तक पहुंच गया था कि बेटी पैदा नहीं हुई लेकिन विधवा पेंशन ले लिए जाते थे। भ्रष्टाचारियों और बेइमानों पर रोक लगाने का उनका अभियान रुकेगा नहीं।भ्रष्टाचार का यह आलम था कि 40 हजार करोड रुपए चुपचाप खा लिया जाता था। उसे बचाया गया है और अब उस पैसे को गरीबों के हितों में लगाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि मोदी को सभी गालियां दे रहे हैं क्योंकि मैं अब सभी का स्क्रू टाइट कर रहा हूं। बेइमानों को प्रश्रय देने वालों को 70 साल के पापों का हिसाब देना पड रहा है। इसलिए सब एकजुट होकर मुझे घेरना चाहते हैं, लेकिन उत्तर प्रदेश की जनता न्याय और परिवर्तन चाहती है और जनता ने जब मन बना लिया तो परिवर्तन होकर रहेगा।

मैंने बेइमानों के रास्ते को रोका इसलिए वे उन पर गुस्सा
नौजवानों, छोटे कारोबारियों की लड़ाई लड़ रहा हूं। इस लडाई की शुरुआत मैंने दिल्ली में सरकार बनते ही कर दी थी। मैंने बेइमानों के रास्ते को रोका इसलिए वे उन पर गुस्सा हैं। कांग्रेस-सपा चुनाव जीतने के लिए इकट्ठा नहीं हुए हैं बल्कि उन्हें यह डर सता रहा है कि कहीं भाजपा का राज्यसभा में भी बहुमत न हो जाए। राज्यसभा में यदि बहुमत हो गया तो मोदी ऐसे कानून बनाएगा कि लूटना बंद हो जाएगा। उन्होंने कहा कि नोटबंदी की वजह से थोकभाव में रखे नोटों की गड्डियों को बाहर निकालना पड़ा। बेइमानों को गड्डी निकालना कैसे अच्छा लग सकता है। गरीब और ईमानदार लोगों की तरक्की के लिए गड्डियों को निकलवाना पड़ा और अब वही पैसा गरीबों का आगे बढ़ाने में मददगार साबित हो रहा है। नोटबंदी के दौरान तमाम तकलीफ सहने के बावजूद देश की करीब 125 करोड़ जनता ने सहयोग दिया।

लखनऊ में बैठी सरकारों ने बिजली नहीं दी
प्रधानमंत्री ने कहा कि पिछले कुछ वर्षो से उत्तर प्रदेश में ऐसी सरकारें आई जिन्होंने नौजवानों से रोजगार छीन लिए, गरीबों को और गरीब बना दिया। देशभर में मशहूर अलीगढ़ ताले यहीं के कारखानों में लग गए। कारखाने बंद हुए तो रोजगार भी बंद हुआ। लखनऊ में बैठी सरकारों ने बिजली नहीं दी। उन्होंने कहा कि अब वक्त बदल गया है। विकास का समय है। विकास को अपने ढंग से परिभाषित करते हुए कहा कि ‘वि’ का मतलब विद्युत या बिजली, ‘का’ से कानून व्यवस्था और ‘स’ का मतलब सडक। इन्हीं तीन चीजों पर विकास की भव्य इमारत बनाई जा सकती है और यह तीनों ही उत्तर प्रदेश से नदारद हैं।

जानिए और क्या-क्या कहा पीएम मोदी ने:-
- अलीगढ़ में 2014 में मेरी सभा में इतनी भीड़ नहीं थी जितनी अब है
- यूपी की जनता न्याय और परिवर्तन चाहती है
- केंद्र सरकार ने भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई लड़ी
- इस बार बीजेपी की आंधी तेज है
- नरेंद्र और इंद्र एक साथ आए हैं
- 70 साल के पाप का हिसाब देना पड़ेगा
- राजनीतिक दल मुझ पर गुस्सा करते हैं
- हमने भ्रष्टाचार के खिलाफ बहुत बड़ी लड़ाई छेड़ दी है
- मैं कल भी यूपी में था और आज भी हूं
- मैं स्क्रू टाइट कर रहा हूं, विरोधी परेशान
- लोकसभा चुनाव में पीएम पद का दावेदार हूं
- मेरे छोटे कारोबारी, मेरे किसान भाई ये लड़ाई आपके न्याय के लिए है
- 40हजार करोड़ रुपए हर साल भ्रष्टाचारी खा जाते हैं
- विरोधी चुनाव जीतने के लिए एक हो गए हैं
- भ्रष्टाचार पर रोक लगाई इसलिए विरोधी परेशान
- नोटबंदी के बाद कालाधन वालों को हुई परेशानी
- बेटी पैदा नहीं हुआ, विधवा के नाम पर पैसे ले रहे हैं
- यूपी की जनता न्याय चाहती
- कारखानों को यूपी सरकार बिजली नहीं दे पा रही
- अलीगढ़ के ताले सारे हिंदुस्तान में बिकते थे
- बिजली यूपी में सबसे बड़ा मुद्दा
- यूपी की जनता ने मुझे प्रधानमंत्री बनाया
- नौकरियों में इंटरव्यू को खत्म किया
- साहूकारों से गरीब,किसान को कर्ज लेना पड़ता था
- यूपी को गुंडागर्दी से बचाएं, भ्रष्ट नेताओं को हटाए
- पहले गैस कनेक्शन लेने में भी होता था भ्रष्टाचार
- हमारा तंत्र विकास का मंत्र है
- इस बार बीजेपी की आंधी तेज है
- केंद्र सरकार ने भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई लड़ी
- यूरिया के लिए किसानों को लाइन में खड़ा होना पड़ता था
- सरकार बनते ही हम सबसे पहले गरीबों का कर्ज माफ करेंगे
- आप हमें मौके दो, हम किसानों की स्थिति बदल देंगे

copyright@-punjabkesari.in

Post a comment

0 Comments