व्यापारी के गोदाम में मिला पोषण आहार का दलिया, प्रशासनिक टीम ने छापामार किया जप्त - samay khabar

ताजा खबरों के लिए FB पेज को Like करे

व्यापारी के गोदाम में मिला पोषण आहार का दलिया, प्रशासनिक टीम ने छापामार किया जप्त

Share This

Demo pic

-कुपोषित बच्चों को दिया जाता है जप्त किया गया दलिया

गल्ले का काम करने वाला व्यक्ति इसे खपा रहा था बाजार में


शिवपुरी
शिवपुरी शहर के कमलागंज इलाके में गुरुवार को एक व्यापारी नंदू गोयल की दुकान व गोदाम पर पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों की एक संयुक्त टीम ने,कलेक्टर तरुण राठी के निर्देश पर कार्यबाही करते हुए यह से पोषण आहार के पैकेट व कट्टे बढ़ी मात्रा में जप्त किए हैं। व्यापारी के यहां से जो पोषण आहार जप्त किया गया है वह आंगनबाड़ी केंद्रों पर बच्चों के लिए बंटने के लिए आता है लेकिन इस माल को उक्त व्यापारी के गोदाम पर खपाते हुए पाया गया। व्यापारी के जिस गोदाम पर छापा मारा गया उस गोदाम में 100 से ज्यादा कट्टे भरे हुए थे। पुलिस ने व्यापारी का यह गोदाम सील कर दिया है। इस मामले में महिला एवं बाल विकास विभाग ने कोतवाली पुलिस को संबंधित व्यापारी नंदू गोयल के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने के लिए पत्र लिखे जाने की बात कही है। गौरतलब है कि शिवपुरी शहर में 100 से ज्यादा आंगनबाड़ी केंद्र हैं जिस पर यह पोषण आहार बंटने के लिए आता है।
मामले को दबाते हुए नजर आए अफसर
कमलागंज इलाके में बच्चों को दिए जाने वाला पोषण आहार जप्त किए जाने के बाद महिला एवं बाल विकास विभाग के अफसर पूरे मामले को दबाते हुए नजर आए। सूत्रों ने बताया है कि जिस व्यापारी के यहां पर यह पोषण आहार पाया गया है उसमें महिला एवं बाल विकास विभाग के कुछ अधिकारी व कर्मचारियों की संलिप्तता सामने होना आ रही है। जो पोषण आहार जप्त हुआ है वह भोपाल से आता है इसके लिए शिवपुरी में भंडार गृह डिपो है यहां से यह आंगनबाड़ी केंद्रों पर सप्लाई होता है। व्यापारी के यहां पर इतनी मात्रा में इतने कट्टे कैसे पहुंच गए यह बिना विभागीय कर्मचारियों की मिलीभगत से संभव नहीं मान ना जा है।
कट्टे गिनती करने की बजाए जल्दबाजी में गोदाम कर दिया सील
कमलागंज में जब व्यापारी के गोदाम पर टीम ने छापा मारा तो महिला एवं बाल विकास विभाग के अफसरों ने गोदाम में कट्टे गिनने की बजाए जल्दबाजी में गोदाम को सील कर दिया। जबकि सबसे पहले कट्टे गिने जाने चाहिए थे जिससे व्यापारी बाद में अपने गोदाम से यह माल हटवा न सके। केवल फौरी तौर पर ही कट्टों का अंदाज लगाकर गोदाम सील कर दिया गया। इसके अलावा देर शाम तक महिला एवं बाल विकास विभाग के अफसर एफआईआर दर्ज कराने में भी देरी करते नजर आये।
फर्जी संख्या के गणित से हर महीने कागजों में ही बंट रहा है पोषण आहार
महिला एवं बाल विकास विभाग में जो आंगनबाड़ी केंद्र संचालित हो रहे हैं वहां पर बच्चों की उपस्थिति फर्जी दर्शाकर उनके नाम पर हर महीने हजारों क्विंटल पोषण आहार खपाया जा रहा है। शहरी क्षेत्र में तो कई केंद्रों पर बच्चे आते ही नहीं है फिर भी फर्जी आंकड़े दर्शाकर वितरण बताया जा रहा है। इन फर्जी आंकड़ों के सहारे बाद में यह पोषण आहार व्यापारियों के गोदाम पर या दूसरी जगह खपाया दिया जाता है। इस पूरे खेल में विभागीय अफसर और कर्मचारियों की मिलीभगत रहती है।
क्या कहते हैं अधिकारी
कमलागंज में एक व्यापारी की दुकान व गोदाम में पोषण आहार के कट्टे व पैकेट मिले हैं। गोदाम को सील कर दिया गया है। हमने पुलिस को एफआईआर के लिए कहा है। जांच के बाद यह बात सामने आएगी कि इतना पोषण आहार व्यापारी के पास आया कहां से।
ओपी पांडे
डीपीओ, महिला एवं बाल विकास विभाग शिवपुरी

इनका कहना है
सम्बंधित विभाग के अधिकारी आवेदन लेकर आये थे लेकिन आवेदन में यह स्पष्ठ नही था कि कार्यवाही क्या होना है जिसके चलते वह आवेदन बापिस लेकर चले गए,उनका आवेदन जब भी आएगा कार्यवाही की जायेगी।
संजय मिश्रा
थाना प्रभारी
कोतवाली

No comments:

Post a Comment

Pages