अगर पहले ही हो गई होती सेंट बेनेडिक्ट स्कूल पर कार्रवाई, नोटिस देकर मामला किया गया था रफा-दफा!



- जिला बाल कल्याण समिति (सीडब्ल्यूसी) ने नोटिस देने के बाद नहीं की कोई कार्रवाई

शिवपुरी

सेंट बेनेडिक्ट स्कूल में गुरुवार को एक स्कूली छात्र के बस से गंभीर रूप से घायल होने के बाद स्कूल प्रबंधन और जिला प्रशासन सवालों के घेरे में है। इस स्कूल में कुछ समय पहले भी एक छात्र बस से कुचल गया था जिसे स्कूल प्रबंधन ने दबा दिया। आज भी यह छात्र सामान्य जीवन नहीं जी पा रहा है। जिला प्रशासन की ओर से केवल ड्रायवर पर एफआईआर कर दी गई लेकिन स्कूल प्रबंधन के प्राचार्य सहित दूसरे लोगों पर कोई कार्रवाई नहीं की गई। जिला बाल कल्याण समिति (सीडब्ल्यूसी) अध्यक्ष जिनेंद्र जैन ने इस लापरवाही पर स्कूल के प्राचार्य को नोटिस दिया था। नोटिस के बाद पूरा मामला रफा-दफा किसके कहने पर किया गया। सीडब्ल्यूसी के अध्यक्ष के नोटिस के बाद महिला सशक्तिकरण विभाग के जांच अधिकारी शिवजीत यादव ने पूरी जांच रिपोर्ट सीडब्ल्यूसी अध्यक्ष जिनेंद्र जैन को सौंप दी लेकिन कई महीने गुजर जाने के बाद भी इस स्कूल पर कोई कार्रवाई नहीं की गई, आखिर क्यों? अगर कार्रवाई पहले ही हो गई होती तो दूसरी बार गुरुवार को जो घटना घटी है वह रोकी जा सकती थी। कुल मिलाकर शिवपुरी में स्कूल प्रबंधकों पर कोई कार्रवाई नहीं हो रही है। जबकि बाल संरक्षण के दावे खोखले साबित हो रहे हैं। 

Post a comment

0 Comments