नकली नोटों के साथ दो आरोपी गिरफ्तार,3 प्रिंटर, स्कैनर, नोट की डिजाइन सहित 3 बंडल कागज जब्त


100 और 50 के नकली नोट छापे जा रहे थे शिवपुरी में
- पुलिस ने छापामारी कर जब्त किए 3 प्रिंटर, स्कैनर, नोट की डिजाइन सहित 3 बंडल कागज

शिवपुरी -
कलर प्रिंटर से 100 व 50 के जाली नोट छापकर बाजार में चलाने वाले दो लोगों को कोलारस पुलिस ने गिरफ्तार किया है। एक अशोकनगर जिले के ईशागढ़ का रहने वाला है, जिसके पास से 100 केे 95 व 50 रुपए के 22 छपे हुए जाली नोट मिले हैं। यह सभी नोट कलर प्रिंटर से तैयार किए थे। जानकारी के अनुसार बुधवार दोपहर 3 बजे बस स्टैंड पर ईसागढ़ का रहने वाला केतन राठौर (28) पान व कोल्डड्रिंक्स की दुकान पर 100 का नोट देकर कुछ सामान खरीद रहा था। उसने 4 अन्य दुकानों से भी सामान खरीदा। जब उसने सामान का भुगतान किया तो एक व्यापारी को नोट पर संदेह हुआ और उसने केतन को पकड़ लिया। आरोपी व्यापारियों के चंगुल से छूटकर भागा। टीआई अवनीत शर्मा को जानकारी दी। पुलिस मौके पर पहुंची और युवक को अपने साथ थाने ले आई, इसके कब्जे से 95 नोट 100 के और 22 नोट 50 के बरामद किए गए। पूछताछ करने पर उसने एक अन्य युवक का नाम लिया और बताया कि वह दूसरा युवक शिवपुरी फिजिकल चौकी क्षेत्र में रहता है। इसके बाद दोनों को साथ लेकर एसडीओपी कोलारस सुजीत भदौरिया और टीआई शर्मा तथा कोतवाली टीआई संजय मिश्रा फिजिकल चौकी इलाके में पहुंचे, जहां से पुलिस ने 3 प्रिंटर, नकली नोट की डाई तथा कागज के तीन बंडल नोट छापने के कब्जे में ले लिए। पुलिस आरोपियों से गहन पूछताछ में जुटी है और इस रैकेट का संचालन कौन कर रहा है और उन्हें कागज सहित अन्य सामान कौन उपलब्ध कराता है और इन नकली नोटों को उनके द्वारा कहां कहां पर खपाया गया है यह जानने का प्रयास पुलिस कर रही है। ईसागढ़ निवासी केतन राठौर कोलारस एसबीआई बैंक के सामने स्थित किराना की दुकानों पर नकली नोट खपाने की कोशिश कर रहा था जिस पर दुकानदारों को शंका हुई और उन्होंने पुलिस को सूचना दे दी और पुलिस जब मौके पर पहुंची तो केतन पुलिस को देखकर दुकान से 2 किमी दूर भाग खड़ा हुआ, जिसके बाद पुलिस ने उसे मानीपुरा से गिरफ्तार किया। जिसके बाद केतन से पुलिस ने 10 हजार 600 रुपए बरामद किए, जिनमें 95 नोट 100 और 50-50 के 22 नोट शामिल थे। केतन ने बताया कि वह कमीशन पर शिवपुरी के सलीम खान से नोट लेकर आता था और उन्हें बाजार में खपाता था, जिसके बाद कोलारस पुलिस उसे साथ लेकर फिजिकल चौकी के सईसपुरा इलाके में स्थित किराने की दुकान पर पहुंची और सलीम की ससुराल से 3 प्रिंटर, स्कैनर, नकली नोट छापने का 3 बंडल कागज सहित वह डिजाइन जब्त की, जिसके जरिए सलीम 100 और 50 के नकली नोट छापता था।

5 हजार में 10 हजार के नकली नोट

सूत्रों ने बताया कि पकड़े गए युवक केतन राठौर कमीशन पर नोट लेता था और 5 हजार रुपए देकर 10 हजार रुपए के नकली नोट उसे मिल जाया करते थे, जिन्हें वह बाजार में खपाया करता था। हालांकि सच क्या है, यह पुलिस की पूछताछ के बाद ही स्पष्ट हो सकेगा।

होगा बड़ा खुलासा, 6 नाम आए सामने

पकड़े गए आरोपियों से पुलिस को अहम सुराग लगने की जानकारी सामने आ रही है। सूत्रों की मानें तो पुलिस को 6 नए नाम भी नकली नोट के कारोबार से संबद्घ होने की जानकारी मिली है। पुलिस इन आरोपियों की धरपकड़ में जुट गई है और देर रात पुलिस इन आरोपियों को पकड़ सकती है।

पूर्व में भी देहात थाना क्षेत्र में पकड़ा गया था नकली नोट का रैकेट

देहात थाना क्षेत्र इलाके में ही पुलिस ने नकली नोट खपाने के रैकेट का भंडाफोड़ किया था। यह रैकेट बिहार के सासाराम से संचालित होता था और शहर के चार युवकों को पुलिस ने गिरफ्तार कर उनके कब्जे से 50 हजार रुपए के 500-500 के नकली नोट भी बरामद किए थे, जिसके बाद पुलिस ने बिहार के सासाराम में भी छापामारी की थी, लेकिन सरगना फरार हो गया था।

दो युवकों भी दबोचा था नकली नोट खपाते हुए

पुलिस ने कोतवाली थाना क्षेत्र में भी दो युवकों को नकली नोट खपाने के चलते गिरफ्तार भी किया था। इन दोनों युवकों से करीब 30 हजार रुपए के नकली नोट जब्त किए गए थे।

शहर सहित अंचल से आ रही थी 100 के नकली नोट के संचालन की सूचना

पुलिस ने बताया कि कई दिनों से शहर सहित अंचल में 100 व 50 के नकली नोट के संचालन की सूचना उन्हें मिल रही थी, जिसे लेकर पुलिस ने अपने मुखबिरों तंत्र को भी लगाया था, लेकिन पुख्ता सूचना न होने के चलते पुलिस को कामयाबी नहीं मिली थी। पुलिस ने बताया कि सलीम के बारे में पहले भी सूचना मिली थी, लेकिन तत्समय यह पुलिस के हत्थे नहीं चढ़ सका था।

Post a comment

0 Comments