ब्रेकिंग न्यूज़ खोड़ -वन परिक्षेत्र में खनन माफियाओं का बढ़ता साम्राज्

*ब्रेकिंग न्यूज़ खोड़
*वन परिक्षेत्र में खनन माफियाओं का बढ़ता साम्राज्*
*आबिद बख्श खोड़*

*करैरा वन परिक्षेत्र मैं आने वाली वन चौकी खोड़ का वन क्षेत्र इस समय खनन माफियाओं के बढ़ते साम्राज्य की चपेट में आ चुका है। जिसके चलते पत्थर की अनगिनत खदानें संचालित हैं।तो बहीं रेत का काला कारोबार धड़ल्ले से चलता दिखाई दे रहा है।और इन सभी प्रकार के उत्यखनन में कहीं ना कहीं प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों की मूक सहमति भी नजर आती दिखाई दे रही है* शिवपुरी जिले के करैरा वन परिक्षेत्र के अंतर्गत आने वाली खोड़ वन चौकी को दो सब रैन्ज (अ ) तथा ( ब )मैं विभाजित किया गया है। सब रेन्ज अ मैं खोड़, वपाउली,बमेरा, से वीरा तक का क्षेत्र आता हैं।तो वहीं ब मैं दरगवा,आसपुर, ऊमरी, चदावनी,से कैनवाया तक का क्षेत्र आता है। अब यहां पर विडंबना यह सामने आती है। कि यहां पर पदस्थ स्टॉप में कुछ स्थानीय लोग भी है। जिनके चलते इन माफियाओं के हौसले और अधिक बढ़ते दिखाई देते हैं। और वह अपने मनमाने तरीके से पत्थर की खदानों की खुदाई करते हैं। और कोई भी उन्हें रोकने के लिए नहीं आता। हालात यह है।कि वपाउली वीट मैं बड्डवयू ,करधई,वाली खदानें दिन दहाड़े कट रही हैं।तो इधर कैनवाया मैं टीटरीघाट, चूनाखो, कुंडखो, तेंदू वाली, लच्छी टाल, टपकन, लाइन वाला गड्ढा, जैसे स्थानों पर करीब दो दर्जन से भी अधिक खदानें संचालित है। अब अगर आसपुर वीट ,वेटी का पठार ,दरगाह की ओर ध्यान दें तो ऊमरी महुआर नदी के घाट से नयाखेड़ा, बक्सर पुर, उदयपुरा, भुन्डा जैसे नदी नालों से रोज दिनदहाड़े रेत से भरे हुए दर्जनों ट्रैक्टर रेत का परिवहन कर स्टॉक करने में लगे हुए हैं। किंतु वन विभाग के कर्मचारी इन्हें देख कर भी अनदेखा कर रहे हैं। हालात यह हैं की इस संबंध में जब वरिष्ठ अधिकारियों को सूचना दी जाती है। तो किसी भी स्टाफ के आने से पहले ही यह लोग अपने वाहनों को यहां से लेकर रफूचक्कर हो जाते हैं। ऐसी कार्यप्रणाली से साफ तौर पर जाहिर होता है ।की यहां का स्टाफ विभाग से ज्यादा इन माफियाओं की जी हजूरी में लगा हुआ है। जिसके चलते वन संपदा को लाखों रुपए का नुकसान उठाना पड़ रहा है। इस तरह की निष्क्रियता से भरी हुई। कार्यशैली को देख सभी लोगों के हौसले बढ़ते दिखाई दे रहे हैं। जिसके फलस्वरूप खोड़ वन चौकी से लगभग 1 किलोमीटर दूर ही कुछ लोगों ने तालाब के समीप अतिक्रमण भी कर रखा है। जिस अतिक्रमण की चपेट में वन क्षेत्र की करीब 20 बीघा जमीन को जोत कर उस पर खेती करना आरंभ कर दिया है ।परन्तु स्टाफ फिर भी कुमकरण की नींद में सोया हुआ हैं।प्रशासन को चाहिए के इस ओर ध्यान देकर इस तरह के होने वाले कृत्यों को रोक भूमि को मुक्त कराऐ और इन अवैध रूप से संचालित समस्त खदानों पर भी ध्यान देकर बंद कराना अति आवश्यक है
*बर्जन*
हा इस सूचना प्राप्त हुई थी जिसके चलते हमने आपना उड़ान दस्ता इसी क्षेत्र में भेजा है ।और लगातार इस तरह की लापरवाही पर नजर रखते हुए कार्रवाई भी की जाएगी।
*लवित भारती डी एफ ओ शिवपुरी*
*वर्जन*
मेरे द्वारा अवैध उत्खनन पर पूर्णता रोक लगाई जा रही है।परंतु स्टाफ की कमी के चलते मैं शत-प्रतिशत प्रतिबंधित करने में असमर्थ हूं ।क्योंकि मौजूदा स्टॉप यहां पर नहीं रुकता है। जिसके चलते मौके पर कार्यवाही नहीं हो पाती है।

*डिप्टी रेंजर*
*साहब सिंह राजपूत बन चौकी प्रभारी खोड़*

DURGESH GUPTA

DURGESH GUPTA

इनके बारे में .. शिवपुरी मध्यप्रदेश का तेजी से बढ़ता वेब न्यूज़ पोर्टल समय खबर .कॉम के प्रधान सम्पादक दुर्गेश गुप्ता द्वारा संचालित 'राष्ट्र हित विचार मंच ' सामाजिक गतिविधियों में सतत क्रियाशील रहते हुए ,पत्रकारिता क्षेत्र में पीड़ित मानवता की सेवा करते रहना , जन हितेषी मुद्दों को प्राथमिकता के साथ उठाना ,जनमानस की सेवा करते हुए ,जनता की आवाज बनकर शासन प्रशासन तक पहुँचाना ,, ! खबरे एवं विज्ञापन के लिए सम्पर्क करें! EMAIL SAMAYKHABAR@GMAIL.COM mob.9329508219 whatsapp CALL 8770870564 सर्वे भवन्तु सुखिनः सर्वे सन्तु निरामयाः, सर्वे भद्राणि पश्यन्तु मा कश्चिद् दुःख भाग्भवेत्। ऊँ शांतिः शांतिः शांतिः अर्थ - "सभी सुखी होवें, सभी रोगमुक्त रहें, सभी मंगलमय घटनाओं के साक्षी बनें और किसी को भी दुःख का भागी न बनना पड़े।"

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.